सनम






हम ज़िन्दगी से आस करे भी तो क्या करे ,
जब तुम नहीं हो पास , करे भी तो क्या करे .
आंसू पिए , शराब पिए , ज़हर भी तो पि लिया ,
बुझती नहीं है प्यास , करे भी तो क्या करे …

मुस्कुराते पलकों पे सनम चले आते हैं ,
आप क्या जानो कहाँ से हमारे घूम आते हैं ,
आज भी उस मोड़ पर खड़े हैं ,
जहा किसी ने कहा था के ठेरों हम अभी आते हैं …


ठुकरा के उसने मुझको ,
कहा की मुस्कुराओ !
मैंने हस दिया

,



आखिर सवाल उसकी ख़ुशी का था .
मैंने खोया वोह जो मेरा था ही नहीं ,
उसने खोया वो जो सिर्फ उसी का था …





जब भी किसीको करीब पाया है
कसम खुदा की वहीँ धोका खाया है
क्यों दोष देते हो काँटों को
ये ज़ख्म तो हमने फूलों से पाया है !!


 

दिल ने तेरे प्यार पैर मजबूर मुझ को करदिया
इस जहां की हर ख़ुशी से दूर मुझ को करदिया
जिस क़दर चाह था दिल ने पास तेरे आने को
इस क़दर दुन्य ने तुझ को मुझ से दूर करदिया ।


मुस्कुराने की वजह क्या जाने हम
हमतो उनकी याद को ताज़ा करते है .
कम्बक्थ ये हसी भी ऐसी है की
उनकी जुदाई में भी रो कर मुस्कुराती है ।


काश वोह नगमे सुनाये न होते
आज उनको सुनकर ये आंसू ए न होते
अगर इस तरह भूल जाना ही था तो
इतनी गहेरी से दिल मैं समाये न होते ॥


एक अजनबी से मुझे इतना प्यार क्यों है ,
इंकार करने पर चाहत का इकरार क्यों है …
उसे पाना नहीं मेरी तकदीर में शायद ,
फिर हर मोड़ पे उसी का इंतज़ार क्यों है …

हरपल





मोहब्बत में साथ तो हरपल होता हे ,
कोई दिखने से होता हे तो कोई दिलसे होता है ,
मज़ा तो साथ तब ए यारो ,
जब जुदाई का लम्हा महसुस होता है




दिल उनके लिए हे मचलता है
ठोकर खता है और संभालता है .
किसी ने इस कदर कर लिया दिल पर कब्ज़ा
दिल मेरा है पैर उनके लिए धडकता है .



जब खुदा ने तुझे बनाया होगा
एक आधा जाम तो उसने भी लगाया होगा
ऐसे ही नशीली नहीं तेरी आँखें
जाम का कुछ असर तो तेरे में भी आया होगा ।

आज हर एक पल खूबसूरत है
दिल मैं तेरी सिर्फ तेरी सूरत है .
कुछ भी कहे ये दुनिया गम नहीं
दुनिया से जिअदा हमको तेरी ज़रूरत है

कुछ लोग जिंदगी में इस कदर शामिल हो जाते हैं
अगर भूलना चाहो तो और यद् आते हैं .
बस जाते हैं वो दिल में इस कदर
को ऑंखें बंद करो तो सामने नज़र आते हैं .

इन्सुरांस


काश प्यार का इन्सुरांस होजाता ,
प्यार करने से पहले प्रीमियम भरवाया जाता
प्यार में वफ़ा मिली तो ठीक वरना
बेवफाओं पे जो खर्चा होता उसका क्लेम तो मिल जाता ..

खुदा ?
सुना ही कुबुलिअत की कोई घरी होती ही ?
ज़रा ये टू बता किस किस तरह मैंने तुझ से ?
उसी माँगा था ?



हमारे मुस्कुराने की वजा तुम हो ,
हमारे ज़िन्दगी का मतलब तुम हो अगर चोर देय
साथ
हमारा तो समझ लेना हमारी मौत की वजा भी तुम हो



दर्द की बाज़ार भरी पारी है ,
वो चीज़ लो जो अन्दर से जली पारी है ,
वफ़ा की तलाश चोर्र दो नादाँ ,
ये दुनिया बेवफाई से भरी पारी है



पत्थर की यह दुनिया जज्बात नहीं समझती
दिल में है जो वोह बात नहीं समझती
तनहा तोह चाँद भी है सितारों के बीच
मगर चाँद का दर्द बेवफा रात नहीं समझती



काश हमने की होती मोहब्बत उस बेवफा से ,
तो आज हमे वफ़ा के बदले बेवाफ़ी मिली होती ,
चाहते तोह आज भी उन्हें आपनी जान से ज्यादा ,
मगर वोह वफ़ा नहीं समझती


इस जहाँ में मोहब्बत काश होती ,
तो सफ़र - -ज़िन्दगी में मिठास होती!
अगर मिलती बेवफा को सजाए मौत ,
तो दीवानों की कब्रे यु उदास होती !!

आँखों से

तुम आये जिंदगी में कहानी बनकर ,
तुम आये जिंदगी में रात की चांदनी बनकर ,
बस्स लेते है जिन्हें हम आँखों में
वो अक्सर निकल जाते है आँखों से पन्नी बनकर .




तुम्हे हमारी याद कभी तो आती होगी
दिल की धड़कन भी शयेद भर जाती होगी
कितना चाह था हमने के साथ साथ रहे
यह सोच कर तुम्हारी भी आँख भर आती होगी .



प्यार करनेवालों की किस्मत ख़राब होती है ,
हर वक़्त इन तहा कइ घडी साथ होती है ,
वक़्त मिले तो रिश्तो की किताब खोल के देखलेना
दोस्ती हर रिश्ते से लाजवाब होती है


आंखों में आंसुओ को उभर ने दिया
मिटटी के मोतियों को बिखर ने दिया
जिस राह पे पड़े थे तेरे कदमो के निशान
उस राह से किसी को गुज़र ने दिया

किनारा

किसी साहिल से पूछो किनारा क्या हैं
किसी परवाने से पूछो जलना क्या हैं …
सब को पता हैं कोई नहीं अपना
फिर क्यों हैं हैं यह दिल लगाना …
बेवफाई की आग में जलना …
ऐसे की खुद को मिटा जाना …
सच कहता हूँ दोस्तों ..
बेवफाई से मौत हे टीक हैं ..
खुदा ने जब तुम्हे बनाया होगा
तू उससके दिल पे एक सरूर चाय होगा
सोचा होगा की तुझको जानत में रखूँ
फ़िर उस्सको मेरा ख्याल आया होगा
खुशबू की तरह आपके पास बिखर जायेंगे,
सकूं बन कर दिल में उतर जायेंगे,
महसूस करने की कोशिश तो कीजिये,
दूर होते हुए भी पास नज़र आयें
वफ़ा के रंग में डूबी हर शाम तेरे लिए ,
यह डगर, यह नगर,मेरा नाम बस तेरे लिए,
तू महेक्ति रहे चांदनी रातों की तरह,
इस नए साल का पैगाम तेरे लिए
हम रूठे तो मनाना ,
हम बिछड़े तो मिलने आना,
हम रोए तो हसाना,
हमको कभी भूल मत जाना
हर पल किसी के आने की उम्मीद तो रहती थी
खुदा मुझे फिर से वोही तन्हाई दे
दे चाहे कोई खुशी बस इतना करम कर
मेरा गम मेरे चेहरे पे दिखाई दे.

नया साल मुबारक

संतॊष झा

नए साल की शुभकामनाएं

नया साल मुबारक
नए साल आए बनके उजाले,
नए साल आए बनके उजाले,
खुल जाए आप की किस्मत का ताले,
हमेशा आप पे रहे मेहेरबान उपरवाले ,
चाँद तारे भी आप पे ही रोशनी डाले

एक-खूबसूरती॥! एक-ताजगी..! एक-सपना..! एक-सचाई..! एक-कल्पना..! एक-अहसास..! एक-आस्था..! एक-विश्वास..!

यही है एक अच्छे साल की शुरुआत।
विश्व के तमाम दोस्तों को मेरी और से नव वर्ष की सुभकामनाये, आप सब प्यार, दोस्ती और शान्ति बनाये रखे, सब की सेवा करे और एक बेहतर समाज के लिए प्राथना करे


आप जहाँ भी हो वहां अपने वतन का, माता पिता का, परिवार का नाम रोशन करें और हमेशा गाते गुन गुनते और मुस्कुराते रहे
आपका प्यारा दोस्त

ज़िन्दगी है ..

मिल कर खुश हुए तो क्या हुए
बिना मिले रिश्ते निभाना ज़िन्दगी है ..



कांटो पर चलने सह किसे परहेज़ हैं ,
मगर
इस रास्ते के शुरुवात चाहिए ,







हेर मिलाने वालो को तेरी याद आती रहे
फूल बनकर मुस्कुराना ज़िन्दगी है ..
मुस्कुरा के गम भुलाना ज़िन्दगी है .


किस किसी की महफ़िल मैं , किस किसी किस किसी को किस किया . एक हम है जिस ने हेर किस को मिस किया , और एक आप है जिस ने हेर मिस को किस किया


मरते हुए ज़मीन सह ले जाऊं मैं ऐसी बात चाहिए
कफ़न भी ओद लूँ मगर दमन तेरा मेरे साथ चाहिए



शहीद भी हो जाऊं इस रास्ते में तोह ग़म नहीं ,
मगर उनकी जीने की भी तोह वजहात चाहिए ,
दिल कभ पिघलींगे इस ज़माने की यह पता किसे ,
जज्बा - -दिल जान्ने तोह दिल में जज़्बात चाहिए ,



दुआ मेरी हैं खुदा सह की मंजिल तक जियूँ ,
कभी तोह खुबूल हो ऐसे हालात चाहिए ,


हर दिन होता हैं इंतज़ार एक नई उम्मीद का ,
मगर उदासी कथं हो जाए ऐसी रात चाहिए ,




हर सुभह तेरी मुस्कराती रहे ,
हर श्याम तेरी गुनगुनाती रहे ,
दोस्त तू जिसे से भी मिले
.